Tumpe h nazre meri

उसी पे ही टिकी हैं निगाहें मेरी
लोगों का भीड़ मुझें अब दिखता नहीं
कर कैसे लेते इश्क़ लोग हजारों से
मुझें उस एक से इश्क़ करने के हज़ार तरीके आते नहीं…

6 Likes

Haaye!! :love_letter:

:smiley::slight_smile::orange_heart::crossed_fingers:

aaiyee :heartpulse: :heartpulse: