तुम भूल गए , हमें भूलाना पड़ा |

तुम भूल गए , हमें भूलाना पड़ा,
उदास चेहरा छिपा के लोगों से उनके सामने थोडा मुस्कुराना पड़ा,
रात के अँधेरे में रोया बहुत ,तुम्हे याद करके
और जब आया दिन का उजाला तो फिरसे मुस्कुराना पड़ा
तुम भूल गए , हमें भूलाना पड़ा,
जब दिखा के फ़ोटो ,
पूछा मुझसे तुम्हारे बारें में मुझसे किसी ने,
मैं नही जानता इसे ये बतलाना पड़ा,
तुम भूल गए , हमें भूलाना पड़ा ,
याद तो आती है तुम्हारी आज भी,
पर जब यादें हद से गुजर जाती हैं फिर तुम्हारी फोटो को कसकर सीने से लगाकर थोडा सकूं पाना पड़ा
तुम भूल गए , हमें भूलना पड़ा,
तुम भुल गए, हमें भूलाना पडा,
उदास चेहरा छिपा के लोगों से उनके सामने थोडा मुस्कुराना पड़ा।।
@Akash_Rohilla

2 Likes

are kya baat hai… :fire:

1 Like

Thank you sir :heart:

1 Like

Woww…