उससे मिलने की खुश मत पूछो

ये जहान रुक जाता है आसमान ये जमीं थम सी जाती है,
मेरी सांसे, धड़कने, मेरी रोम रोम बस उसी का ही नाम गातीं हैं,
उससे मिलने की खुशी मत पूछो मुझसे जनाब, वो खुशी
मेरे चेहरे की चमक और आंखों की नमी में साफ छलक जाती है।

2 Likes

Bohot khub! :heart:

1 Like

Yaar very thankfull to u for all your love to my write up

1 Like

You are welcome. :heart: @Ankushhhh

1 Like