मेहबबत

तेज़ी से गुजरते वखत
उसे तकबबुर से भिखरते रिश्ते के
केयि नहीं रौक सकता।।

2 Likes

bahut khoob, bahut khoob

Wah wah wah