कहते हुए सुना

किसी ने
किसी को
कहते हुए सुना,
कि कौइ है जो
कभी भी
किसी भी वक्त
कही जा रहा हैं

पर किसी को नहीं पता
कि कौन है जो…
कही जाने कि बात
किसी को भी नहीं बता रहा है!

फिर कई दिन बाद पता चला,
कि वो कई दिन पहले…
चला गया!
और मेरा खुदा…
उसका नाम,
आज बता रहा हैं।

-axy

3 Likes

Wah wah bhoot khoob behtreein rachna hai apki

1 Like

@navjyotsingh.rajputis right, poem is very nice…:metal:

1 Like

shukriya! :slightly_smiling_face:

great post brother