मोहब्बत ❤️

इतनी खूबसूरत नहीं होती मोहब्बत जितनी शायरों ने बना रखी है ,
कोई तोड़ कर नहीं लाता चांद - तारे , ये अफ़वाह किसी ने फैला रखी है ,

हुस्न के ढलते ही ताल्लुक़ खत्म सा हो जाता है ,
ये आशिक़ और है जिन्होंने बटुए में अपनी माशूका की तस्वीर संभाल रखी है,

सफर-ए-इश्क़ में इंतज़ार और धोखा दोनो ही होता है ,
तुमने ख़ामख़ा उसकी पायल संभाल रखी है ,

माना ख़ूबसूरत है वो शक़्स जिसपर तुम मरते हो ,
पर ऐसा भी क्या चाहना कि उसने जान आफ़त में डाल रखी है ,

अगर रखना है उससे राबता तो इज़हार करो मोहब्बत का ,
ये दर्द देती है यार , और तुमने एक तरफ़ा पाल रखी है ।।

3 Likes

वो भी खुश और कही दिल टूटा था मेरा

और मेरे तरफ आने वाले उसकी एक हसी के इंतज़ार ने मुझे है घेरा

:sweat_smile::sweat_smile::sweat_smile::sweat_smile:

1 Like

Bhut sundar :raised_hands::raised_hands:

1 Like