सुनो ना जरा

सुनो
तुम्हारे लीए…
वक़्त निकालना…
थोडा ठेर जाना…
मुस्कुरा कर कुछ पल बस ठेर जाना।
थोडा सम्भलना…
थोडा अल्हड़ बन…
ज़िन्दगी के पन्ने पलटने सज्ज… थोडा झूमउठना
बेखौफ़ पंख लीए उड़ना तुम…
सूरज की किरणो से होते… चांदनी के इन्द्रधनुष बन उड़ना तुम।
बस ठेर जाना थोडा…
जीतना और बस बढ़ना है…
बस ठेर थोडा उण संदेहओ को गले लगाना।
और मुस्कुराना…
अजूबा हैं तुम्हारी मुस्कान…
पग्लुसा💕

2 Likes

Love. :heart:

1 Like

:orange_heart::heart: shukriya

1 Like