तुम हो 💕

तुम हो,
ये सिर्फ एक अहसास नहीं है,
ये बर्फ सा बहता पानी है,
चट्टानों को चीरता हुआ वाहन है,
दिल में आता हुआ एक ख़्वाब है।
तुम हो,
ये सिर्फ कहने के बात तो नहीं,
ये एक सवाल नहीं, जवाब है,
ना यकीन हो, तो हवाओं से पूछना,
जो रोज तुम्हे छू कर गुजरती है।
तुम हो,
तुम्हारा होना एक इत्तेफ़ाक़ तो नहीं,
इत्तेफ़ाक़ टकराते तो जरूर है,
पर मिलते वहीं है, मिलते तो है,
जो टकराकर, रुकरार, हम-तुम सी बाते करते है।

  • रित्ती :two_hearts:
3 Likes

Khubsurat. :dizzy:

1 Like

Thanks :rose::rose::heart:

1 Like