कभी कभी लगता है..! 🌿

कभी कभी लगता है ,
तुझे पा लिया,
फिर क्यों तू,
इतना दूर हो जाता है?

कभी कभी लगता है,
तू शामिल है मुझसे,
फिर अगले ही पल
औझल क्यों हो जाता हैं?

कभी कभी लगता है,
तू इतना करीब है,
की सारी बलाए,
कोसो दूर है,
हमारी मोहबब्त से।

कभी कभी लगता है,
थाम लिया है,
तेरे ख्वाबों को ,
पर हकीकत में,
दूर हूं कही।

कभी कभी लगता है,
मिलना तय था,
या फ़साना था,
जो इतनी उलझन में डाल गया।

कभी कभी लगता है,
सब एक राह में है,
फिर क्यों अचानक,
वो राह ही बदल जाती है?

कभी कभी लगता है,
मिलना भी जरूरी था,
कुछ सीखने के लिए,
अनुभव के लिए,
और इश्क़ के लिए ।

  • रित्ती :herb:
2 Likes

:two_hearts::two_hearts::heart:

1 Like

Beautiful. :heart:

1 Like

Thanks a lot :yellow_heart::yellow_heart:

1 Like