मैं जानती हूँ

तू देख, पढ़ और समझ उसे,
जो मैं लिखती हूँ महसूस कर उसे |

मैं चाहती हूँ, मेरी बातें तेरे दिल को छू जाये,
मैं कुछ यूँ लिखती हूँ, की जो तेरे जहँन में उतर जाये |

जानती हूँ सब तब्बजु देंगे नहीं मेरी लिखाई को,
क्योकिं अभी वक़्त लगेगा, क्योकिं अभी और सीखना पड़ेगा |

मुझे इंतजार रहेगा उस वक़्त का,
जब सब तब्बजु देंगे मेरी लिखाई को।

जानती हूँ अभी वक़्त लगेगा,
पर वो दिन जरूर आएगा ||

@Monika_Kumari

1 Like

Beautiful. :heart:

1 Like