वो राज़

आज में वो राज़ कहती हूं,
की में तेरी ही सांसों से ज़िंदा रहती हूं,
आज में वोह राज़ कहती हूं
की तेरी ही झलकों से में अपनी रातें बुनती हूं,
आज में उस दिल का राज़ कहती हूं
की तेरे इश्क़ के रंग में,में हर रोज रंगती हूं ।

  आज में उसकी दर्द -ए - दास्तां सुनाती हूं,
  की कैसे तेरी तस्वीरों को देखना, में अपना शौक मानती हूं,
  और कैसे तेरे लिए बदनामी की गलियों में जाना में अपना 
   फ़र्ज़ मानती हूं।

आज में उसकी ही दास्तां सुनाती हूं,
की कैसे तुझसे इश्क़ के दो लवज सुनने को, में हर रोज़ एक
अर्जी डालती हूं,
की कैसे तेरी एक झलक के लिए ,हर दिन अपने टूटे दिल को
उम्मीद से जोड़ती हूं,
आज में वोह राज़ कहती हूं।।

आज में उस हर सुबह का दर्द सुनाती हूं,
की कैसे अपनी लाल आंखों को, में अपना इश्क़ मानती हूं,
कैसे हर सुबह आईने में ,में तुझको ही ढूंढ़ती हूं,
कैसे कृष्ण की माला में भी ,में तेरा ही नाम जप्ती हूं,
अल्लाह की इबादत में भी में तुझको ही याद करती हूं
कैसे हर रात , तेरे ही कांधे का में इंतजार करती हूं,
की कैसे रातों में, अपनी लट्टों को तेरे लिए ही संवारती हूं,
की कैसे हर रोज़ में तेरा इंतज़ार करती हूं।।

   आज में उस चांद बिन सितारे की कहानी सुनाती हूं
   हां आज में उस दिल का राज़ सुनाती हूं
   की ना में तुझको जानती हूं ,ना तू मझको जानता है
   में तो बस तेरे चर्चों को ही ,अपना रास मानती हूं।।
7 Likes

Nice post
@Bella
Welcome to @yoalfaaz family
Keep posting
:bouquet::blush:

2 Likes

thank you :blush:

2 Likes

Very intensely written, beautiful. :heart:
Welcome to YoAlfaaz, hope to read you more. :bouquet::heart:

2 Likes

Nice :+1: @Bella
Welcome to the family of @yoalfaaz

2 Likes

बहुत खूब, अति सुन्दर @Bella
बहुत अच्छा लिखा है आपने :slightly_smiling_face:

YoAlfaaz परिवार में आपका स्वागत है।
लिखते रहिए और मुस्कुराते रहिए। :slightly_smiling_face:

1 Like

thank you sooo much
it means a lot to me​:heart::heart:

3 Likes

Welcome to Yoalfaaz Family :love_you_gesture:
बेहद खूबसूरत रचना।

1 Like

thanks​:heart::heart:

1 Like

nice @Bella
welcome in yoalfaaz family :bouquet::bouquet::bouquet:

thnx​:heart::heart:

2 Likes