हमारे प्यार का फूल

जन्नत और दोजख में क्या रखा है,
मुझे तो बस तेरा प्यार ही काफी है,
अरे तेरे नैनों सा पिलानेवाला कोई नहीं,
तेरा प्यार ही मेरा इकलौता साकी है ।

हर ज़ख्म भर जाता है तेरे छूने से,
दिल का सूनापन खत्म हो जाता है,
हर चिंता चली जाती है दूर मुझसे
खून का हर कतरा स्वस्थ हो जाता है ।

बंदिशें रहती नहीं बेड़ियां टूट जाती हैं,
ज़माने की कैद से आजाद हो जाता हूं,
घुटता रहता हूं तेरे बिना इस ज़िन्दगी में,
बस तेरी मौजूदगी भर से आबाद हो जाता हूं ।

तुझे खो देने के खयाल से भी डर लगता है,
तुझसे बिछड़ने की बात सोचना भी सजा है,
बिन तेरे जहां उजड़ जाएगा मेरा,
ऐसा कभी न हो रब से बस यही इल्तिज़ा है ।

मुझे तेरी जुदाई गवारा नहीं है,
तू हर ज़र्रे में महसूस होती है,
बाकी सब तो मजाक बनाते हैं मेरा,
मेरी यादें बस तुझ संग ही महफूज़ होती हैं ।

ये करम ऊपरवाले का है,
तू उसकी ही रहमत है,
तुझसे बिछड़ना दूर जाना तुझसे,
ये सोचना भी मेरे लिए दहशत है ।

दुआओं में तुझे रोज मांगा है,
तब जाके तेरा दीदार हुआ है,
तू जिस दिन न अाई मेरी गली में,
उस दिन का हर एक लम्हा बेज़ार हुआ है ।

ख्वाहिशें तुझको लेकर बहुत बड़ी हैं,
हर एक ख्वाहिश को पूरा करना है,
तू जिए हज़ारों साल दुनिया में,
मुझे बस तेरी मोहब्बत में मरना है ।

तेरी गोद में सिर रखूं, तू सहलाए,
तेरी आंखों में मुझे डूबना है,
मैं कांच का टुकड़ा तू हीरा अनमोल,
तेरी बाहों में ही आकर मुझे टूटना है ।

एक तमन्ना है मेरी क्या पूरी होगी!
रब से रोज यही दुआ करता हूं,
तू सलामत रहे मेरी मोहब्बत के साथ,
और मैं तेरी बाहों में खुशी के साथ मर जाऊं ।

तू डाले मिट्टी मेरी लाश पे,
सुकून मुझे उसमे भी मिलेगा,
गर खिला जो फूल कोई मेरी कब्र पे,
वो फूल भी हमारी मोहब्बत का खिलेगा । ,

©KK©

3 Likes

This is such a beautiful poem, I just love it. :heart_eyes::heart_eyes:
Bohot hi khubsurat likha hai! Keep on posting more. :heart:

2 Likes

Thanks so much for your encouragement :blush:

1 Like