खोवाईशे

कुछ है जो पाना चाहता हूं ,
जादा नहीं , लेकिन थोड़ा जीना चाहता हूं ।
कुछ पाना चाहता हूं ,
कुछ खोना चाहता हूं ,
कुछ अधूरे खॉबो को पूरा करना चाहता हूं ।

अधूरा हूं मै ,
कुछ पूरा होना चाहता हूं ।
बेसहारा हूं मैं,
कुछ सहारा बनना चाहता हूं ।

भटका हूं मै ,
कुछ मंजिलों में खोना चाहता हूं ।
चुप हूं मै ,
कुछ चिखना चाहता हूं ।

कुछ उमीद है ,
उन्हें आजमाना चाहता हूं ।
कुछ पल है ,
उन्हें धुंडना चाहता हूं ।

कुछ भिखरी हुई यादे ,
उन्हें समेटना चाहता हूं ।
कुछ अल्फाज़ है ,
उन्हें समझाना चाहता हूं ।

कुछ खोवाईशे है ,
इन खोवाईशो को , यूहीं कहना चाहता हूं ।
बस यूंही कहना चाहता हूं ।

4 Likes

Khwahisho or chaato ki hai ye bandagi,
Or issi kaa asli naam hai zindagi…

Achi baat hai jb hum life se kuch expection nahi rkhte to life humse bhot sari expection rkhne lagti hai… I hope apki sari khwahiye or chaate puri ho jaye…

1 Like

So beautifully expressed❤️

1 Like

नगमा जी आपके इन जज्बातों का सुक्रिया । मै आशा करता हूं आपके जीवन में खुशियां आए और आप बस मुस्कुराते रहे । :heart:

1 Like

आपका आभार जो आपने अपना टाइम दिया :heart::heart::smile::pray: धन्यवाद :two_hearts:

1 Like

Shukriya ji :blush::blush::blush:

1 Like

Beautiful :yellow_heart::blush:

1 Like

Thankew :heart_eyes::heart::pray: