कुछ कान्हा के लिए

आज कान्हा का जन्म हुआ ,
हुआ चारो ओर शोर ।
बोल तू भी हरी हरी ,
भज उनके तू बोल ।

पाल डोलना करते हम खूब ,
नटखट श्याम को प्रेम दिखाते भरपूर ।
हस्ते खेलते रहते वो ,
जब देखो लीलाएं करते वो ।

जन्म हुआ था कारावास मै ,
जगमग किया पूरा संसार ।
हर के सारे रोग द्वेष ,
किया इस जग का उधार ।

गए सुदामा जब मिलने ,
किया क्या खूब सतकार ।
भेट देने चले थे अपने आंगन को,
मां लक्ष्मी ने रोक लिया ।

प्रेम में पड़ गई राधा उनके ,
वैसा ना किसी ने प्रेम किया ।
जग में किया बड़ा उधार,
सबको करके तृप्त लाभ ।

सुन्दर है मनमोहक है ,
हर गोपियों की धड़कन है ।
उन जैसा ना किसी ने चमत्कार किया ,
भरे दरबार में अपना विशाल रूप प्रकट किया ।

बोलो जय कन्हैया लाल की ,
श्री हरी गोपाल की ।

3 Likes

bolo Radhe-Radhe :heart:

1 Like

:pray::pray:

1 Like

जय बासुदेब कृष्ण :triangular_flag_on_post:

1 Like