ये रात

ये रात बड़ी खामोश है ,
इसमें भी कुछ सुकून है ,
आज मै छत पर बैठा हूं,
सब कुछ कितना हसीन है ।

खोया था उन काले बादलों में ,
कुछ रंग भरे आशमानो मै ,
चमक रही थी चांद भी ,
खूबसूरत थी वो रात भी ।

अब मै भी कुछ थक गया ,
मेरी आंखों को अब सुकून था ।
सोना था मुझे अब ,
दिल में मेरे ना कोई दुख था ।

अये रात तू फिर आना ,
तेरे इंतज़ार में ही तो सुख था ।

5 Likes

waah @Surya_Kant

1 Like

Thankew @sharma.kanika0404 :heavy_heart_exclamation:

Wow

1 Like

Thankew @Adithyan_ks :heavy_heart_exclamation:

1 Like

bahut khoob brother, bahut khoob :clap: :clap: :clap:

1 Like

Wah :yellow_heart:

1 Like

Thanks bhai jaan @Ravi_Vashisth :pray::bouquet:

1 Like

Thankew :bouquet::heavy_heart_exclamation:

1 Like

Love it🖤

1 Like

Welcome :heart_eyes::heavy_heart_exclamation::see_no_evil: