मोरे पिया

कैसे बेरंग से हुए मोरे हर अंग रे
आज न भाए मोहे किसी का संग रे

दूजे देश से बुला दो मोरे पिया को री सखी
मोको रंगना है आज इश्क़ के रंग रे

-अदिति पाठक

2 Likes

haaye!! isi tarah hme bhi prem ke rang me rangde koi!! well penned

This is so good.

love is sounding much more interesting and colourful now
after reading you @Adity_Pathak