प्रेम का मायाजाल

.
.
.
वह अपने हाथ को, हमारे हाथ से, मिलाया करते थे,
जब कोई देखता न था तो जोर से दबाया करते थे,
हमें लगा कि यह कोई प्रेम का कमाल है,
क्या पता था,
उन्होंने बिछाया वह एक प्रेम का मायाजाल है


-Adamya Tripathi
-ادمیہ ترپاٹھی

3 Likes