मोहब्बत जितनी खामोश होती है उतनी ही सच्ची होती है ।

राज़ खोल देते हैं नाजुक से इशारे अक्सर,
कितनी खामोश मोहब्बत की जुबान होती है। 91 80790 95914 20200324_171824

3 Likes