चित्र मैं, विचित्र हूँ!

इंसान हूँ! या चलचित्र हूँ!!
क्योंंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!
अर्थ हूँ! अनर्थ हूँ!!
महत्व हूँ!अदम हूँ!!
रीत हूँ! कुरीत हूँ!!
वर्तमान - भूत हूँ! या मैं, भविष्य हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

प्यार हूँ! अहिंसा हूँ!! या
बोया नफ़रत का बीज़ हूँ!!
मौन हूँ! शब्द हूँ!!
सवाल हूँ! या उत्तर हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

सांझ हूँ! या भोर हूँ!!
दिन हूँ! या रात हूँ!!
अमावस्या हूँ! या पूनम का चाँद हूँ!!
द्वीप हूँ! या चिराग़ हूँ!!
अंधकार हूँ! या रोशनी हूँ!!
तेज़ हूँ! शांत हूँ!!
शीत हूँ! ताप हूँ!!
धूप हूँ! छाँव हूँ!!
धरती हूँ! आकाश हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

धार हूँ! सैलाब हूँ!!
रेत हूँ! या कीचड़ हूँ!!
नदी हूँ! या समन्दर हूँ!!
किनारा हूँ! या पुल हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

राहत हूँ! या भूचाल हूँ!!
दवा हूँ या दर्द हूँ!!
कोयल हूँ! काग हूँ!!
हास्य हूँ!या व्यंग हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

लीन हूँ विलीन हूँ!!
भीड़ हूँ! तनहा हूँ!!
होश हूँ! बेहोश हूँ!!
भाव हूँ! या भावहीन हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

जीत हूँ! हार हूँ!!
जंग हूँ! या मैदान हूँ!!
संयुक्त हूँ! या एकल हूँ!!
सदस्य हूँ! या मेहमान हूँ!!
राह हूँ ! या सफ़र हूँ!! या हूँ! सफ़र कोई मुसाफ़िर,
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!

इंसान हूँ!या कोई चलचित्र हूँ!!
क्योंकि चित्र मैं, विचित्र हूँ!!:writing_hand:js Gurjar

2 Likes