मैं बच्चा नहीं हूं

मैं कहता कुछ और हूं लोग समझ कुछ और जाते हैं,
सोच उनकी गलत है ओर फिर भी गलत हमें ठहराते हैं,
ये दुनिया अच्छे को बुरा बताती हैं और बुरे को कई बार अच्छा बताती हैं,
जिसके पास हो पैसे ज्यादा उसका इमान अच्छा बताती है,
कई बार किसी काम को करने से रोक दिया जाता है ये कहकर कि 4 लोग क्या कहेंगे,
अगर ये भी तुम सोचने लगे तो वो क्या कहेंगे,
चुप करा दिया जाता है मुझे कई बार अकसर ये कहकर की, तु नादान है दिल का कच्चा है ओर तु अभी बच्चा है,
जानता हूं सही :white_check_mark: गलत, ना मैं इतना नादान हूं ओर ना ही इतना छोटा बच्चा हूं,
एक बार सुनो तो सही अगर मैं गलत हूं तो मुझे बताओ ना मुझे समझाओ ना ॥

2 Likes