आज का चैलेंज - मेरे सपनें

आज के चैलेंज के लिए आपके सामने वाक्य है.

मेरे सपनें

इस्पे अपने विचार लिखिए और सबके साथ मिलकर अपने प्यार को जस्बातो में दिखाए.

Write your original lines as a reply to the Shayari written above.
Per person, only one reply is allowed. Reply with maximum likes will win. This challenge will end at midnight next Saturday.

3 Likes

मेरे सपने दिखाते तेरी तस्वीर है
तेरा नाम लेके मुझे सताते भी खूब है

फर क्या हुआ अगर हकीकत में तू दूर है
जानते है ये तू मेरे दिल के कितने करीब है

हो तुम साथ मेरे तो मेरे सपने रंगीन हो
बिना तुम्हारे ज़िन्दगी बैरंग है

4 Likes

Aaj bhi mere sapne dur bhagte h mujhse
Aaj bhi mere apne dur bhagte h mujhse
Tanhai se lipta rhta hu aaj bhi
Tanha hi baitha rhta hu aaj bhi
Kuch na kuch likhta rhta hu aaj bhi
Aasu apne bahata rhta hu aaj bhi
Aaj bhi mere riste dur bhagte h mujhse
Aaj bhi mere sapne dur bhagte h mujhse

Ummide soi hue h aaj bhi
Bebasi baithi hue h aaj bhi
Takleefe lagi hue h aaj bhi
Lagti waisi hi hue h aaj bhi
Aaj bhi mere wade dur bhagte h mujhse
Aaj bhi mere sapne dur bhagte h mujhse

Darta hu dekhne se sapne aaj bhi
Aakho ke samne hote h sawere aaj bhi
Zinda hu naa jane main kaise aaj bhi
Kyon sapne mujhe h aate tere aaj bhi
Aaj bhi teri kinare dur bhagte h mujhe
Aaj bhi mere sapne dur bhagte h mujhse

3 Likes

Mere sapne…

mere sapne aksar pure ho jaya karte hai,
maa-baap ke jo kurban hojaya karte hai…

Meri har zarurat puri ho jaya karti hai,
maa-baap jo apni jarurat chupaya karte hai…

mujhe libas har dafa khaas mila karta hai,
maa-baap jo 10 saal ke libas ko aksar naya bataya karte hai…

mujhe bhook aksar laga nahi karti,
maa-baap apne hisse ka bhi mujhe jo khilaya karte hai…

maange meri aksar puri ho jaya karti hai,
maa-baap jo muskan me lachari chupaya karte hai…

mere sapne aksar pure ho jaya karte hai,
maa-baap ke jo kurban hojaya karte hai…

4 Likes

कुछ अधूरे से हो कर रह जाते हैं अक्सर वो
लड़की हो तो कभी कह कर इतनी बड़ी नहीं हुई
कतल अक्सर कर दिए जाते है वो,
ना मिलती उनको इसकी कोई कोई सजा या माफ़ी है,
ये कैसी बेरुखी है,
जो लड़की होने के नाम पर अक्सर की जाती है…
लड़की होना तो जैसे कोई जुर्म सा हो गया हो वैसे,
जिए तो बिचारी वो भी कैसे,
दिन ढले शाम आई साथ अपने खोफनाक होते कई हादसे लाई,
नहीं है वो सुरक्षित आज के इस समाज में,

रौंदे गए हैं पैरो तले मेरे सपने भी कुछ जो जान से ज्यादा मुझको प्यारे थे,
गलती मेरी थी तो सिर्फ इतनी की,
आज के इस समाज में
एक लड़की बन कर जन्म लिया था मैंने…
:relieved:

5 Likes

The winner of the challenge is

Congratulations @_little_writer23 :partying_face:

3 Likes

thanku

1 Like

Congratulations @_little_writer23 :slightly_smiling_face:

1 Like

thanks

1 Like

Congratulations @_little_writer23 :clap: :clap: :clap:

2 Likes

Behad khoob :two_hearts:

2 Likes

:innocent::innocent::heart:

tq😍

Shukriya😊

1 Like

congratulations :bouquet::blush:

2 Likes