तेरा इश्क़

ज़रा सी इश्क करने की गुस्ताखी तो कीजिए जनाब,
निकम्मे हो जाएंगे किसी काम में मन भी ना लगेगा…

यह तेरा इश्क ही है,
जो आज भी हमें ज़िंदा रखा है…
इस मतलबी दुनिया का,
बाशिंदा बना रखा है…
मतलब से चलती है यह दुनिया सारी,
फिर भी न जाने क्यों,
यह हमारी आंखों पर पर्दा पड़ाए रखा है…
हमे इस मतलबी दुनिया का
बाशिंदा बनाए रखा है…


-Adamya Tripathi
-ادمیہ ترپاٹھی

6 Likes

bhoot khoob, bahut khoob :ok_hand: :ok_hand: :ok_hand:

bohot badhiya likha hai :+1::blush:

1 Like

शुक्रिया @parmesh_chavan

Woww… just amazing :ok_hand:

1 Like

Ty ma’am @Chandhana… Ji

1 Like

Ty ma’am @Shagufta… Ji
थोड़ा थोड़ा लिखता हूँ…

1 Like

Kya bat ,kya bat :blue_heart:

1 Like

जी @Shagufta…Ji
बिल्कुल…

1 Like