सुनो!

सुनो! अबकी मिलना है तुमसे
कुछ कहना नहीं है बस,
तुम्हारी आंखों में देखना है ।
छूने है तुम्हे ,कस के गले लगाना है
बस तुम्हारे साथ बैठके
आसमां को जलाना है
कुछ ऐसा बेशकीमती वक़्त तुम्हारे साथ मुझे बिताना है।
अबकी जब जाने लगो तुम
तो चुपके से हाथ में निशानी पकड़ा जाना
कुछ मत कहना बस, आंखों से समझा जाना
कि आज भी तुम चांद से बातें करते हो।
सुनो! अबकी मिलना है तुमसे।।

4 Likes

Bohot khoob… Kyaa baat hai…

1 Like

Sukriya

1 Like

Beautiful. :heart:

1 Like