कयामत

हम तो बने हैं वफा ए मुहब्बत पागल
आरजू करते रहे वो मेरी सलामती की
इक तो उनके हुस्न के कायल हैं हम
और अदाएं बरसाती हैं वो कयामत सी

3 Likes

Keep Up The Good Work!