जिंदगी अल्फाजों में

जिंदगी मेरी अल्फाजों में घिरी है
ये मैं उसको बताऊँ कैसे ग़ालिब
वो तो इश्क़ ए बेकरारी में मस्त है
उसको मैं ये भला समझाऊँ कैसे

2 Likes

You Figured It Out
nice