एक आस... 💔

बस एक आस…

तेरे करीब आ रहा हूँ मैं, मुझमे तू सिमट सी रही हैं…
ना चाहते हुए भी अब सीने से तुझे लगा नहीं सकता मैं
ये ज़िन्दगी अब तेरे बिन कुछ यू कट सी रही हैं
हा, दिवार पर लगी तेरी उस तस्वीर को आज भी घंटों बैठ के निहारता हूँ… बस इसी आस में ज़िन्दगी मेरी अब कुछ इस तरह सिमट सी रही हैं ,
कि तेरे करीब आ रहा हूँ मैं, मुझमे तू सिमट सी रही हैं…

4 Likes

:heart::heart:

1 Like

Stunning!

1 Like