"हिन्दुस्तान का कश्मीर"

मैं अनंत हूं मैं अभिन्न हू इस देश का मै अंग हूं
मैं अखंड हूं मैं अटल हूं इस देश का मै रंग हूं

मैं मुकुट हूं मैं हृदय हूं इस देश का मैं स्वर्ग हूं
मैं खामोश हूं मैं शोर हूं जो जीती है आज मैं वो जंग हूं

मैं सुकून हूं मैं युद्ध हूं इस विजय का मैं आगाज़ हूं
मैं राख हूं मैं चिंगारी हूं मैं सीने मै भभकती आग हूं

मैं बाण हूं मैं लक्ष्य हूं इस देश का मै तीर हूं
मैं आज हूं मैं कल भी हूं मैं हिंदुस्तान का कश्मीर हूं

6 Likes

Bahot bahot shukriya​:hugs::hugs::hugs:

1 Like

Wow! :heart:

1 Like

Behad pyari रचना।

1 Like