प्यार, एक खूबसूरत अहसास

शायद वो प्यार ही है जब हम जानते हैं कि सब बिखर गया है,
और जिसे हम चाहते हैं वो चला गया है,
लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं मन में कुछ बातें आने लगती है कि,
हां ,वो मुझे याद तो करता होगा ना?
हां ,वो मुझे कभी सोचकर अपनी आंखें नम करता होगा ना?
शायद ,नहीं!

लेकिन फिर भी ना जाने क्यों मन में एक उम्मीद सी लगी रहती है कि ,
हां, वो आज़ तो मुझे एक मेसेज या काॅल करेगा,
हां, वो आज़ तो मुझसे फिर बात करेगा ,
हां, वो फिर मेरी मुस्कुराने की वज़ह बनेगा ,
हां, शायद फिर वो रिश्ते की नई शुरुआत करेगा,
हां, शायद फिर वो रिश्ते की नई शुरुआत करेगा!!
लेकिन ,शायद नहीं!

फिर भी हम अरमानों को सजाए रखते हैं,
दिल में आस लगाए रखते हैं ,
हमारा प्यार हमारे पास हो या ना हो ,
लेकिन उसकी यादों के सहारे हर दिन गुजार लिया करते हैं ,
भूलाकर उनकी हर कड़वाहट को , अक्सर आंखें गीली कर दिया करते है,
शायद यही है प्यार,कि उसके ना पास होने के बाद भी उसे हम अपना अहसास बना लिया करते हैं ,
शायद यही है प्यार,कि उसके ना पास होने के बाद भी उसे हम अपना अहसास बना लिया करते है!!

4 Likes

Bahut khoob @Pj_poonamjain :ok_hand::ok_hand::ok_hand:

1 Like

Thanks :blush: @Ravi_Vashisth

1 Like