गुड़िया

‘गुड़िया’ थी वो,
हाँ, हर एक शख्स के लिए गुड़िया थी वो,
अजनबी ही वो क्यों ना हो,
हर किसी के लिए गुड़िया ही थी वो,
हाँ, शायद इसलिए जो भी मिला उससे
उसके जज़्बातो के साथ खेलता ही चला गया…
हाँ, एक ‘गुड़िया’ समझ कर…

4 Likes

Painful. :broken_heart:

1 Like