वजह वो है

कई बार मेरे हंसने की वजह वो है।
कई बार मेरे रोने की वजह वो है।
उसका वक्त पर कभी ना आना,
कई बार मेरे मरने की वजह वो है।
उसका मुझे नज़र अंदाज करना,
कई बार मेरे लड़ने की वजह वो है।
उसकी खुशी की वजह बन भी पाना,
कई बार मेरे खुश होने की वजह वो है।
उसका मेरी ख़ातिर इतनी परवाह करना,
कई बार मेरे लापरवाही करने की वजह वो है।
उसका मुझे खो देने का ये डर,
कई बार मेरे जिने की वजह वो है।
उसका मुझसे यूँ ऐतबार करना,
कई बार मेरे इश्क करने की वजह वो है।
पर उसका फिर यूँ अचानक बदल जाना,
कई बार मेरे यूँ तड़पने की वजह वो है।

6 Likes

bahut khoob dost :clap::clap::clap:

1 Like

Shukriya

1 Like