प्रेम...एक परीक्षा

कृष्ण अगर प्रेम की परिभाषा है,
तो राधा…
खुद ही वो प्रेम है,
जिसे परिभाषित किया जाता है;
और मीरा…
उस प्रेम की जोगन,
जो प्रेम को प्रेम का रूप प्रदान करती है।।

6 Likes

Behad khoobsurat…
:heart_eyes::heart_eyes::two_hearts::two_hearts::kissing_heart::blue_heart:
Keep writing such lovely poetries…:black_heart::black_heart:

1 Like

Love this. :heart:

1 Like