जोरदार शायरी

ज़िन्दगी के मोड़ पर कठिनाइया मिलती है
किसी को ज्यादा किसी को कम मिलती है
इस कदर मत हार ऐ मंजिल के मुसाफिर
तुझे मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी

5 Likes