सुना है कि

सुना है कि,
हम गुमान बहुत रखते हैं…!
किसी की न सुनते हैं,
और जीवन में अहम् कायम रखते हैं…!
:roll_eyes::roll_eyes::roll_eyes:
लोग कितने अच्छे से जानते हैं…?
:relieved::relieved::relieved:
जब तक सुनते हैं उनकी बातें,
प्रश्‍नवाचक चिन्ह के बिना।
हामी भरते हैं उनकी हर अच्छे - बुरे में,
तब तक ही सभ्यता धारक कहलाते हैं।
Kittu_ki_diary

4 Likes

Bitter truth!!

1 Like