इंसाफ या एक और गुनाह..?

माना, चोरी करना पाप है…!
तो इसके परिणाम में
उसकी पीट-पीटकर हत्या कर देना।
कहा का इंसाफ है…?
अगर गुनाह का यही इंसाफ है।
तो, गुनाह को बढ़ावा देने वाले आप हैं…!!
Kittu_ki_diary

3 Likes

Inhumane that is! Nicely written. :frowning:

1 Like