मासूम

क्या लिखू किसका दर्द बयां करूं,
उस ढाई साल कि बच्ची का,
याँ उस माँ का,
जिसने उसकी लाश के टुकड़ों कों देखा!

6 Likes