कब से कब तक कि रकबत

कब से कब तक कि है यह रकबत,
पता नही कब शमेगी प्यार की ये गुरबत?

करते है बेपनाह चाहत,
जब भी सुनते आप की आहट,

सुने जो YoAlfaaz मिलती दिल को राहत,
करना न जुदा करके मुजे कभी भी आहत।

#नादान

4 Likes