खुद ही बयां हुए

खुदगर्ज़ी के इस मौसम में हम तो बेगाने हुए,
थे हमारे अपने वो भी अनजाने हुए,

प्यार था या मज़ाक इसके अफसाने शुरू हुए,
आखर में जो वो थे खुद ही बयां हुए।

#नादान

3 Likes