एक दूजे की

फ़िक़्र थी उसकी आँखों मे,
बेचैनी थी उसकी साँसों में,

घुल रहा था नशा, मेरा मेहबूब था मेरी बाहोंमे,
भूल गए लम्हा जब थे हम एकदूजे के आगोश में।

#नादान

3 Likes

That’s Very Kind!

1 Like