हमारे दिल की आग

अपनी ही आग को
अपने अंदर समेटे बैठे हैं,
अपना तो कोई यहाँ है नहीं
हम ख़ुद से ही रूठे बैठे है।:thinking:

5 Likes

Wow!

1 Like

Thank you.

1 Like

Well said.