मोहब्बत क़ा मर्ज़

मरती हुई मेरी मोहब्बत ने उनसे,
उनके दिए जख्मों क़ा मर्ज़ जो पूछा,

हँस कर जो उन्होने दूर रहने की सलाह दी,
मेरी मोहब्बत ने दम तोड़ लेने क़ा फ़ैसला कर लिया॥

5 Likes

Pain is seen in lines… well written

1 Like

Thank-you :rose: