" नई रीत "

चल नई नजर से दुनिया देखें,
कुछ अपने देखें, कुछ पराए देखें…!

जहां ना तुम गलत हो, ना मैं सही हूँ,
सब गिले - शिकवे मिटा कर देखें…!

कल्पनाओं के नए पंख लगाकर,
नील-गगन को छूकर देखें…!

खुद बदले तो ही जग बदले,
एक बार इसे ही रीत बनाकर देखें…!

चल नई नजर से दुनिया देखें…!
एक बार इसे ही रीत बनाकर देखें…!!
Kittu_ki_diary

6 Likes

You just put a smile on my face!!:blush:keep writing…

2 Likes

Beautifully written. :heavy_heart_exclamation:

1 Like

See your smile is precious smile

1 Like

@Twisha_Ray :blush: