रुह कि तलब

हर-सू तो दिल-ए-महरूम-ए-तमन्ना दिखती हैं,
मियाँ ये रुह की तलब को जानते हीं नही॥

6 Likes

Amazing Effort!