इतिहास भी ज़ुबां का मोहताज है

इतिहास भी ज़ुबां का मोहताज है तभी तो आज तक जितने भी लोगो ने इतिहास के सुनहरे पन्नो में अपना नाम दर्ज करवाया वो तमाम लोग कभी खामोश ही न रहे और आज भी उनकी आवाज़ लोगो के दिलो में गूँज की शक्ल में मौजूद है…

4 Likes

Out Of Sight!