चाहना आसान है,पर किसको पता था अनजाने में शिद्दत वाली मोह्हबत होजायेगी ..😅

बांध लूँ तुमको अपने जंजीरो से,
कौन कहता है याद नही तुम.
भले शायरी मेरी बेवफा निकली,
पर आज भी शिद्दत से चाहते है तुमको हम .

3 Likes

You are a blessing

1 Like

sorry for late comment!! ty so much mr.ravi!! :heart_eyes:

1 Like

My pleasure

1 Like