सब जुठ

दिखाए तुने जो सपने सारे धोखेदारिया थे,
हम तो अपनी सांसे भी तुझपे वार दिए थे,

गल्लां तेरी मिठिया सारे कड़वे घुट उतरवाए थे,
रखा बाकी क्या तुजे सवारने में घुटने तक आए थे,

वफ़ा दी गाल करते बेवफ़ाई कर जांदीए,
सारे इल्ज़ाम मेरे हलफ नाल कर जांदिए।

#नादान

6 Likes

Excellent!