लब्ज़ का तिलस्म

हम लफ़्ज़ों को नही दिल चुराते है,
पर यह भी सच है,
लफ़्ज़ों को ही उसका ज़रिया हम बनाते है।

#नादान

4 Likes

haha thats good

1 Like

Hey @navjyotsingh.rajput thx

1 Like