मतलबी हो तुम

shayari
#1

गझब की मतलबी हो तुम, मतलब निकलने के बाद एक बार पलट के भी नही देखा,
हम तो जैसे तुम्हारे लिए कल के अखबार हो गए।

#नादान

5 Likes

#2

Interesting ho tum dost @Amaan_Arzal :slightly_smiling_face:

1 Like

#3

@Ravi_Vashisth शायद पर मजा जरूर आएगा। :slight_smile::slight_smile::slight_smile::slight_smile::slight_smile:

1 Like

#4

Bahut khub yaara

1 Like

#5

Hey @Twisha_Ray thx a lot for appreciation.

1 Like

#6

Bilkul dost bilkul

0 Likes

#7

You’re most welcome :blush:

0 Likes