ख़्वाबों में आना तुम

इस बार तो,कुछ वक्त के लिए ठहर जाना तुम,
हक़ीक़त में ना सही,ख़्वाबों में आना तुम,

इश्क़ के दरिया में अगर,बहना ना आया,
हाथ पकड़ना मेरा,संग मेरे लहरों में बह जाना तुम,

गलतियाँ तुम्हारी होगी, फिर भी माफी माँग लूँगा मैं,
जब भटक जाऊ मैं,वफ़ा का मतलब समझाना तुम,

इस बार भी शायद,मैं ना कर पाऊंगा इज़हार,
“अल्फ़ाज़ों” में ना सही,नजरों में इश्क़ बताना तुम।

4 Likes

Loved it. :heavy_heart_exclamation:
Welcome to YoAlfaaz family, dear. :heavy_heart_exclamation:
Wish you all the love and have a great journey. :heavy_heart_exclamation:

1 Like

Wah re ishkbaaz… man ko choo gaya…clapssss

1 Like

जी शुक्रिया

1 Like

Thank you :blush::blush:

1 Like

what a nice interesting post it is @Dara_anil1
and
welcome to YoAlfaaz family
keep writing and sharing

1 Like

Hey, welcome to Yoalfaaz @Dara_anil1

1 Like