पापा आप इतने अच्छे क्यूँ हैं?

जिनके लिऐ मैं कभी बड़ी नहीं हुई,
मेरे खाने से पेहले जिन्होने कभी खाना नहीं खाया,
जिनके थाली क़ा पहला निवाला मेरा,
और सारे सुख मेरे,
जिनकी उंगली पकड़,
मैने चलना सीखा,
और गिर कर उठना,
खो कर पाना,
और हस कर जीना,
उनकी बेटी हूँ मैं,
उनकी बेटी हूँ मैं॥

4 Likes

Proud daughter. Well penned❣️ @ElleG

3 Likes

thankyou so much means a lot .:heart:

2 Likes

So beautiful…
Ohh gosh your words struck my mind

2 Likes

Thank you so much :pray:

2 Likes

your father must be proud of her daughter
and the love you have for your father is great
god bless you both and the love in between
nice post @ElleG
i liked it a lot

1 Like

Tqsm for so kind words. :blush::pray:

1 Like