Shayari

दर्द सहा है…दर्द देखा है… दर्द लिखा है… दर्द कहा है
अब दर्द ही मर्ज़ है…दर्द ही मरहम… दर्द दावा है
खुशियों से तो नाता छूटा…गम लगता है कुछ झूठा
ये दर्द सहारा…अब जीने की भी दर्द वजह है!

4 Likes

very nice post @Himanshu_Chaturvedi :slightly_smiling_face:

Superb , claps